आज देश की युवा पीढ़ी को अपना हीरो बदलने की आवश्यकता है, भगत सिंह, आजाद जैसे लोगोंको अपना आदर्श बनाए - पं संतेंद्र मिश्रा

Share:

बजरंग दल के कट्टर हिंदूवादी नेता कुछ वर्ष पूर्व ओवैसी का मुह काला करने से सुर्खियों में आये थे अभी अभी उन्होंने एक बड़ा बयान दिया है जिसमे गाय काटने वाले का सर काटने की बात कही और बताया, जब तक इस हिन्दूराष्ट्र के युवा चंद्र शेखर आजाद, सरदार भगत सिंह और पूरी दुनिया में भारत देश को खोया हुआ सम्मान दिलाने वाले नरेंद्र मोदी जी जैसे क्रान्तिकारियों को अपना आदर्श मानकर आगे नही बढ़ेंगे तब तक भारत माँ (हिन्दूराष्ट्र) को संविधान के रखवालों (भ्रष्टाचारी/घोटाले/रिश्वतखोरी/लूट/काले अंग्रेजों) से पूर्ण मुक्ति नही मिलेगी।
क्योंकि सत्य यही है कि जब भी युवा ने हथियार उठाया है तब तब अन्याय और आतंक को मिटाया है। इसलिए हमें काले अंग्रेजों द्वारा 1950 में स्थापित की गई इस भ्रष्ट प्रणाली को बदलकर भारत को पुनः अखंड एवम शक्तिशाली हिन्दूराष्ट्र बनाना है



"याद रहे हिन्दू शेरो इतिहास में नाम उन्ही का दर्ज होता है जो अपने वर्तमान के लिए अपने भविष्य का चिंतन नहीं करते, आज के वर्तमान का इतिहास यही कहता है कि हिन्दुओं की हिन्दूराष्ट्र की स्थापना अधूरी रह गयी है इस लड़ाई को पूरा करना शेष है, इसलिए धर्म कहता है कि युद्ध के समय सभी क्रिया-प्रतिक्रिया सदैव न्यायसंगत होती है, अतः शत्रु से मित्र का आचरण त्याग कर सिर्फ धर्मयुद्ध कर, अन्यथा भविष्य के इतिहास से भी मिटा दिया जाएगा"
जेहादियो के खिलाफ धर्मयुद्ध होगा वही हिंदूओ का भविष्य तय करेगा, हिंदूओ को आगे आकर सेनापति के रुप मे खुद लडना होगा, क्योंकि जो ताकते भगवा आतंकवाद और हिन्दू आतंकवाद की बात करते थे उन्हे जड़ से मिटाना जरूरी हो गया है, 70 सालों से इनहोने देश को दीमक की तरह खाया है , अभी भी इनकी जड़े हिंदुस्तान में हैं, हिन्दुवों को कलंकित करने का जो दुस्साहस इन्होने किया है वो क्षमा प्रार्थनीय नहीं है , जय हिन्दू राष्ट्र

No comments