39 भारतीयों की हत्या पर इनमें से किसी ने भी ISIS और इस्लामिक आतंक के खिलाफ न तो मुहं खोला और ना ही नाम बदलने की धम्की दी

Share:

शायद आप सोच रहे होंगे की ये क्या हो रहा है या मैंने इन नौटंकिबाजों की फोटो क्यों लगाई है तो आपको बता दें  की इनमे से सभी को आप जानते होंगे और शायद इनमे से कुछ आपके आदर्श भी हो समय समय पर 2014 के बाद जब भी इन सुवरों को मौका मिला है हिन्दू आतंकवाद की बात की है
भगवा आतंकवाद की बात काही और बताया आज भारत देश असहिष्णु हो गया है भारत में इन्हे खतरा महसूस होने लगा है दर लगने लगा है, ये अपने बच्चों के फ्युचर के बारे में सोचकर डरते हैं, गौहत्यारा अखलख की मौत को पूरे हिन्दू समाज को इनहोने कटघरे में लाकर खड़ा कर दिया था लेकिन
लेकिन आज इराक में 50 बांग्लादेशी मुसलमानों को छोड़ दिया और 39 भारतीय लोगो को ISIS के मुसलमानों ने गोली मार दी उनकी निर्मम हत्या इसलिए कर दी गयी क्योंकि वो हिंदुस्तान के हिन्दू थे, लेकिन इन दोगलों में से किसी एक ने भी नहीं बोला किसी ने अगर कुछ कहा भी तो यंहा की सरकार को ही दोषी ठहराया
लेकिन किसी ने भी इस्लामिक आतंकवाद और ISIS के खिलाफ एक भी शब्द नहीं कहा चलिये खिलाफत की बात तो अलग है एक बार भी इनहोने निंदा तक नहीं की, मारे गए भारतियों की आत्मा की शांति के लिए दुआ तक नहीं की

फिर भी हममे बहुत से लोग इनको भगवान मानते हैं शर्म करो आँखें खोलो और ध्यान से देखो बाकी समझदार हो आप लोग, एक थप्पड़ के बदले अनुराग कश्यप ने हिन्दू आतंकवाद की बात कह दी, सुशांत सिंह राजपूत जिसने अपना सरनेम बादल देने की धम्की दे डाली
दैनिक अपडेट टीम सिर्फ हिन्दुवों और हिन्दुत्व के लिए काम करने वाली संस्था है, जिसको आगे बढ़ाने के लिए दैनिक अपडेट टीम को आर्थिक मदद की जरूरत है कृपया इसमे योगदान करके हमे आर्थिक रूप से मजबूत करने का प्रयास करें ताकि हम बिना किसी आर्थिक दबाव के हिन्दुत्व का काम ऐसे ही कर सके जय श्री राम .

No comments