गांधी को राष्ट्रपिता, कन्हैया जैसे दोगलों को अपना बेटा बनाने वाले गद्दारों भारत को माता बोलने में क्या परेशानी है तुम्हें

Share:
suneel-shetty

गांधी को राष्ट्रपिता और कन्हैया जैसे दोगलों को अपना बेटा बनाने वाले गद्दारों भारत को माता बोलने में क्या परेशानी है तुम्हें

गांधी को राष्ट्रपिता और कन्हैया जैसे दोगलों को अपना बेटा बनाने वाले गद्दारों भारत को माता बोलने में क्या परेशानी है तुम्हें अजीब विडम्बना है हमारे देश के गद्दारों की जो गांधी को राष्ट्रपिता कह सकते हैं नेहरू को चाचा कह सकते है इशरत को बेटी और कन्हैया को बेटा बना सकते हैं दाऊद को भाई बना सकते हैं उन्हे भारत को माता कहने में समस्या है यही मुख्य समस्या है हमारे देश की ये दोगले मुल्ले जंहा अल्पसंख्यक होंगे वंहा इन्हे समान अधिकार चाहिए लेकिन जंहा ये बहुसंख्यक होंगे वंहा के अल्पसंख्यक हिन्दू के सारे अधिकार खा जाएँगे और उन पर अपनी हुकूमत चलाते हैं तो क्या सारे सेक्यूलरिज़्म का ठेका हिन्दुवों ने ही ले रखा है

एक तरफ गुजरात में नरेंद्र मोदी अपने स्कूल की मिट्टी को अपने माथे पर लगाकर दुनिया को ये संदेश देते हैं की धरती माँ से बढ़कर कोई नहीं वंही दूसरी तरफ लखनऊ में मुल्लों के हितैषी अखिलेश यादव कह रहे हैं हमने तो लैपटाप बाटें थे हमे क्या पता गाय गोबर और मिट्टी पर राजनीति होगी अखिलेश यादव को यादव होकर गाय की रक्षा करने में शर्म आती है लानत ऐसे कठमुल्ले नेताओं पर जो राजनीति के लिए अपने धर्म की बली चढ़ाकर मुल्लों की गोद में जा बैठते हैं ।

No comments