अगर कानून इन मुस्लिम दरिंदों को सजा देने में समर्थ होता तो आज शम्भूनाथ जैसों को आगे आने की जरूरत नहीं पड़ती

Share:
nirbhaya hatya kand mujaffar love jihad kand

अगर कानून इन मुस्लिम दरिंदों को सजा देने में समर्थ होता तो आज शम्भूनाथ जैसों को आगे आने की जरूरत नहीं पड़ती

देश की एक मासूम बेटी का खत -

आज शम्भूनाथ ने निर्भया जैसी भारत माता की तमाम बेटियों के लिए उस जिहादी को मार दिया तो पूरा देश उसके खिलाफ खड़ा हो गया मीडिया उसे हिन्दू आतंकवादी सिद्ध करने में लगी है लेकिन कोई हमे आज ये बताएगा की निर्भया का बलात्कार कर उसे जान से मारने वाले मो अफ़रोज का क्या हुआ क्या सरकार ने उसे फांसी पर चढ़ा दिया, मुजफ्फर नगर में रहमान ने लव जिहाद कर हिन्दू लड़की को फंसाया रेप किया फिर उसे जहर पिलाकर मार दिया क्या उस हिन्दू लड़की को न्याय मिल गया ऐसे लाखों केस चल रहे हैं कोर्ट में, और इन मासूम लड़कियों का रेप कर उनको जान से मारने वाले दरिंदे बाहर घूम रहे हैं

फिर कोई निर्भया इन दरिंदों का शिकार होगी, फिर कोई हिन्दू लड़की जहर पिलाकर मार दी जाएगी, फिर कोई लड़की लव जिहाद का शिकार कर बांग्लादेश में बेच दी जाएगी, ऐसी तमाम निर्भया हैं साहब आप बस अखबार पढ़िये, न्यूज़ देखिये, चैनल बदलिए ये कहिए की कानून में आज दम नहीं रह गया लेकिन आप तब तक सोते रहिए जब तक आपके घर में निर्भया कांड जैसी घटना ना हो जाये।

पहले मैं कोंख में मारी जाती हूँ, वंहा से संघर्ष करके इस दुनिया में आ गयी तो अफ़रोज जैसे दरिंदों के हाथों मारी जाती हूँ, मैं मरती रहूँगी और आप बस तमाशा देखिये मेरी मौत का बस, घर की लक्ष्मी बेटियाँ सिर्फ कहानी बनके रह गयी हूँ मैं, लक्ष्मी सबको बहू के रूप में चाहिए लेकिन बेटी के रूप में नहीं चाहिए, मैं हर रोज सपने सजाती हूँ लेकिन क्या पता किसी दिन कोई उन सपनों को तोड़ न जाये निर्भया के सपनों की तरह।

आपकी लाड़ली बेटी

कहानी अगर दिल को छुई हो तो शेयर जरूर करें

No comments