वो आतंकियों के लिए झुंड में इकट्ठे हो तो सरकार चुप लेकिन हम हिंदुत्ववादी शंभू के समर्थन में खड़े हो तो हम पर लाठीचार्ज - उपदेश राणा

Share:
updesh rana on shambhunath in jaipur

वो आतंकियों के लिए झुंड में इकट्ठे हो तो सरकार चुप लेकिन हम हिंदुत्ववादी शंभू के समर्थन में खड़े हो तो हम पर लाठीचार्ज - उपदेश राणा

जयपुर में शम्भूनाथ के समर्थन में खड़े हुये हिन्दुवों के ऊपर पुलिस लाठीचार्ज करती है उनके ऊपर जुल्म किए जाते हैं लेकिन ये मुल्ले आतंकवादियों के समर्थन में झुंड में इकट्ठे होते हैं तो ये सरकार अपनी आँखें बंद कर लेती है ये मुल्ले नारा लगाते हैं हिंदुस्तान का एक ही राजा मेरा ख्वाजा मेरा ख्वाजा उनपर कोई कार्यवाही नहीं होती है। राजस्थान में हिन्दुवो ने समभू के समर्थन में शांति मार्च निकाला उन निहत्थों पर वसुंधरा सरकार ने लठियाँ चलवायी। ये कंहा का न्याय है।

वो अफजल की फांसी रुकवाने के लिए उसकी दया याचिका पर साइन करने के लिए इकट्ठे होते हैं अफजल की फांसी पर पूरा कश्मीर बंद किया जाता है। बुरहान वानी की मौत के बदले में मुल्ले जुलूस निकालते है। रोहंगिया मुसलमानों के समर्थन के लिए ये मुल्ले रैली निकालते हैं। तोड़ फोड़ करते हैं तब सरकार खामोशी से बैठी रहती है। ये बांग्लादेशी मुसलमानों के समर्थन के लिए सरकार के पुतले फूंकते हैं तब भी सरकार चुपचाप बैठी रहती है। लेकिन एक दलित हिन्दू के समर्थन में अगर लोग खड़े होते हैं तो उन्हे प्रताड़ित किया जाता है। उन्हे परेशान किया जाता है। उन्हे जेल में डाला जाता है।

आज भगत सिंह जैसे चन्द्र शेखर आजाद जैसे लोग क्यों नहीं बनते हैं उसका जवाब शायद यही है । जो लोग चंद्र शेखर आजाद की राह पर चलते हुये अपनी भारत माता की रक्षा करने के लिए आगे बढ़ते हैं उन्हे वंहा की सत्ता में बैठे लोग ही खा जाते हैं। मैं नमन करता हूँ चंद्र शेखर आजाद और भगत सिंह को और उनके जैसा जज्बा रखने वालों को। आप समझ गए होंगे इशारा क्या है ? जय हिन्द वंदे मातरम भारत माता की जय

No comments