आज भी हम मानसिक रूप से अंग्रेजों के गुलाम हैं, लोग तुलसी पूजन, गुरु गोविंद सिंह जी का प्रकाश पर्व छोड़ मेरी क्रिसमस की दे रहे हैं बधाई

Share:
tulsi poojan diwas guru govind singh madan mohan malviya christmas day

आज भी हम मानसिक रूप से अंग्रेजों के गुलाम हैं, लोग तुलसी पूजन, गुरु गोविंद सिंह जी का प्रकाश पर्व छोड़ मेरी क्रिसमस की दे रहे हैं बधाई

आज 25 दिसंबर है आज देश के महानायक मदन मोहन मालविय जी का जन्म दिन है आज श्री अटल विहारी बाजपेयी जी का जन्मदिन है, आज सिख गुरु गोविंद सिंह जी का प्रकाश पर्व है आज तुलसी पूजन है, लेकिन हमारी युवा पीढ़ी अपने धर्म त्योहारों अपने गुरु अपने नायकों को भूलकर विदेशी पर्व मेरी क्रिसमस मनाने में जुटी है। उस प्लास्टिक के पौधे को पूजकर खुश है लेकिन जिस तुलसी  के पौधे से उसे आक्सीजन मिलती है जिस तुलसी के पौधे से वो जिंदा रहते हैं उसे पूजने में उन्हे शर्म  आती है, ये हैं हमारे संस्कार ये हैं हमारे आदर्श इसमे उन युवा पीढ़ी के बच्चों की उतनी गलती नहीं है जितनी उनके माता पिता की जिनहोने उनको गुरु गोविंद जी के बलिदान को नहीं समझाया जिनहोने अपने बच्चों को मदन मोहन मालवीय जी के त्याग और परिश्रम को नहीं समझाया।

हमारा देश तो बहुत पहले आजाद हो गया था लेकिन क्या हम आज भी आजाद हैं नहीं, हम आज भी गुलाम हैं उनके क्योंकि हम शारीरिक नहीं मानसिक गुलाम बने रहना चाहते हैं हमे सनातन सभ्यता में फूहड़पन नजर आता है हमे पश्चिमी सभ्यता अच्छी लगती है, आज लोग क्लास और मास की बात करते हैं, हमे 25 दिसंबर सिर्फ इसलिए याद रहता है की मेरी क्रिसमस है लेकिन हम अपने महान नायकों को भूलते जा रहे हैं जिनकी वजह से आज आप और हम खुले आसमान के नीचे सांस ले पा रहे हैं ।

दैनिक अपडेट टीम की तरफ से आप सभी को तुलसी पूजन दिवस, गुरु गोविंद सिंह प्रकाश पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ, और मदन मोहन मालवीय तथा अटल बिहारी वाजपेयी जी को जन्म दिवस की बधाई

No comments