Sanjay Leela Bhansali ने अलाउद्दीन खिलजी और माँ पद्मावती की प्रेम कहानी कोदिखाकर गलत किया है :- उपदेश राणा

Share:


सभी हिन्दू संगठन एक हो जाएँ और फिल्म पद्मावती का विरोध कर इसे रिलीज होने से रोकें - उपदेश राणा

फिल्म पद्मावती में भंसाली ने अलाउद्दीन खिलजी और माँ पद्मावती की प्रेम कहानी को दिखाकर हिन्दुवों के मुंह पर तमाचा मारा है Sanjay Leela Bhansali  की फिल्म Padmavati का विरोध बढ़ता ही जा रहा है कई हिन्दू संगठन इस फिल्म Padmavati का विरोध कर रहे हैं चाहे बात हो सूरत में Padmavati की रंगोली मिटाये जाने की या करणी सेना द्वारा Padmavati के पोस्टर्स  को जलाए जाने की

एक समय था की जब फिल्मों का विरोध होता था तो उससे फिल्म का प्रमोशन होता था लेकिन आज ये बात नहीं है समय बदल चुका है अभी हाल की कुछ फिल्मों पर इसका असर भी दिख चुका है कुछ दिनों पहले Salman Khan की फिल्म ट्यूबलाइट का भी जमकर विरोध हुआ था जिससे वो फिल्म भी पिट गयी थी Shahrukh Khan की फिल्म जब हैरी मेट सेजल का भी यही हाल हुआ था आपकी जानकारी के लिए बता दें की Sanjay Leela Bhansali की फिल्म Padmavati में Dipika Padukone पद्मावती के रोल में नजर आ रही है Shahid Kapoor राजा रत्न सिंह के रूप में नजारा आ रहे हैं और Ranvir Singh  अलाउद्दीन खिलजी का किरदार निभा रहे हैं

वैसे इस फिल्म का विरोध होना जायज भी है क्योंकि इस फिल्म में Sanjay Leela Bhansali ने इतिहास के साथ छेड़छाड़ की है इस फिल्म में Sanjay Leela Bhansali ने पद्मावती और अलाउद्दीन खिलजी की प्रेमकथा को दिखाने की बात कही है लेकिन अगर आप इतिहास उठा कर पढ़ते हैं या इंटरनेट पर ही खोजते हैं माँ पद्मावती के बारे में तो आपको मिल जाएगा की अलाउद्दीन खिलजी पद्मावती के सौन्दर्य पर मोहित था न की दोनों की प्रेमकहानी थी और आपकी जानकारी के लिए बता दें की पद्मावती की शादी मेवाड़ के राजा रत्न सिंह से हो चुकी थी और वो एक पतिव्रता नारी थी जिनहोने अपने पति के युद्ध में खिलजी के द्वारा मरवा दिये जाने के बाद अग्नि कुंड में खुद को जला लिया था ताकि उनका पतिव्रत धर्म ना टूटे अब आप खुद सोच सकते हैं की Sanjay Leela Bhansali ने गलत तरीके से इस फिल्म को परोसा है ।

बाकी जनता के हाथ में है की वो कब जागरूक होगी और क्या देखना पसंद करेगी

No comments